बारपेटा

Nederlands Polski Tiếng Việt English Español Bahasa Melayu Русский 中文 Italiano

बरपेटा सत्तरा बरपेटा जिले के हृदय में बसा हुआ है। होली में यहां पर दौल उत्सव आयोजित किया जाता है। इस उत्सव में भाग लेने के लिए यहां हर वर्ष हजारों की संख्या में पर्यटक आते हैं। इस मेले के अलावा यहां पर वैष्णव गुरूओं की जयंतियां और पुण्य तिथियां भी बडी धूम-धाम से मनाई जाती हैं। सत्तरा में कई इमारतों का निर्माण किया गया है। यह इमारतें 20 बीघा में फैली हुई हैं। यहां पर एक कीर्तन घर का निर्माण भी किया गया है। पूरे असम में यह सबसे बड़ा कीर्तन घर है। कीर्तन घर के अलावा यहां पर तीन आसनों का भी निर्माण किया गया है। यह तीन आसन श्रीमंत शंकरदेव, श्री महादेव और श्री बदुला अता को समर्पित हैं। यहां पर प्रतिदिन नाम-प्रसंग का पाठ भी किया जाता है।

Wikipedia



Impressum